Best 10 Liver detoxifier diet लिवर डिटॉक्सीफाड डाइट

आज हम बात करने है रहे है liver detoxifier डाइट के बारे में, जीवन जीने के लिए लिवर का स्वस्थ होना अनिवार्य है। लिवर आपके शरीर में अनेक महत्त्वपूर्ण गतिविधियों को नियंत्रित करता है और शरीर के सुचारू रूप से कार्य करने में सहायता करता है। यह खाने को पचाने में अथवा उसके सुपाच्य में एक अभिन्न भूमिका निभाता है। इसके अलावा यह हमारे इम्यून को भी बढ़ावा देता है और पोषक तत्वों के संचयन में भी सहायक है। यह बहुत सारे रासायनिक पदार्थों का उत्पादन करता है जो अन्य अंगों की कार्यशीलता के लिए अनिवार्य है। यह रक्त की रचना को भी निर्धारित करता है और रक्त में विषाक्त पदार्थों का निष्कासन कर उसे स्वस्थ बनाता है।

हैल्दी लिवर के लिए हैल्दी लाइफस्टाइल

  • सिगरेट, तंबाकू, गुटखा, शराब का सेवन ना करें।
  • 6 घण्टे की नींद जरूर लें, दिन में सोना एवॉयड करें।
  • सोने और जागने का एक फिक्स टाइम बनाए।
  • रोजाना वॉकिंग, प्राणायाम, व्यायाम या योगासन जरूर करें।
  • तेज मिर्च मसाले, ज्यादा ऑयली फूड, बाहर का स्ट्रीट फूड एवॉयड करें।

10 detixifier diet डिटॉक्सीफाइ डाइट

लहसुन खाएँ- लहसुन आपके लिवर को स्वच्छ व पुष्ट रखने में अत्यंत सक्षम है। यह लिवर में उपस्थित उन एन्जाइम्स को सक्रिय कर देता है जो लिवर को साफ करने में सहायक है। कोलेस्ट्रॉल के उच्च स्तर से लिवर की कार्यशीलता प्रभावित हो सकती है और लहसुन कोलेस्ट्रॉल के स्वस्थ स्तर को नियंत्रित कर लिवर के कामकाज को प्रभावित होने से रोकता है। लिवर स्वास्थ्य के लिए पकाये या तले गए लहसुन (Processed garlic) की जगह कच्चे लहसुन का सेवन करें।

चुकंदर है प्रभावी- चुकंदर भी अपने प्रभावी गुणों की वजह से लिवर को साफ करने के लिए सर्वोत्तम आहार को लिस्ट में शामिल हैं। इसमें निहित बीटा कैरोटीन लिवर को उत्तेजित करता है और उसकी कार्यशीलता में सुधार लाता है। इसके अलावा यह प्राकृतिक रक्तशोधक भी है।लिवर की कार्य शीलता में सुधार लाने के लिए अपने दैनिक आहार में चुकन्दर या फिर इसके रस को शामिल करें। आप चुकंदर का इस्तेमाल करके एक प्रभावशाली सलाद भी बना सकते हैं। एक कप कटे हुए चुकंदर में दो चम्मच जैतून का तेल और आधा चम्मच नींबू का रस मिलाएँ। सारी सामग्री को अच्छी तरह मिक्स करें और हर दो घंटे में रोजाना दो चम्मच खाएँ।

नींबू है जरूरी- नींबू भी लिवर को साफ करने में मदद करता है जिसका श्रेय इसमें निहित डी-लिमोनेन नामक एक तत्त्व को जाता है। यह लिवर की कोशिकाओं को सक्रिय कर देता है जो लिवर को डीटॉक्सीफाई करने में मदद करते हैं। इसके अतिरिक्त इसमें विटामिन ‘C’ भी उच्च मात्रा में निहित होता है जो लिवर को पाचन क्रिया का समर्थन देने के लिए एन्जाइम्स का उत्पादन करने में मदद करता है। यह लिवर द्वारा खनिज के अवशोषण को भी बढ़ावा देता है।

ग्रीन टी- आप रोजाना ग्रीन टी पोकर शरीर में एकत्रित हुए वसा एवं विषाक्त पदार्थों को निकाल सकते हैं और साथ ही में शरीर को हाइड्रेट कर सकते हैं। यह लिवर में वसा संचय पर रोक लगाने में सहायक है। यह शराब की तरह विषाक्त तरल पदार्थों के हानिकारक प्रभावों से भी लिवर की रक्षा करते हैं। ग्रीन टी लिवर के विकारों को रोकने में भी फायदेमंद है। कैंसर कॉजिस एंड कंट्रोल में प्रकाशित एक 2009 के अध्ययन के अनुसार, जो लोग ग्रीन टी का सेवन नियमित रूप से करते हैं, उनमें लिवर कैंसर के विकसित होने का खतरा कम होता है। दिन में रोजाना दो कप ग्रीन टी अवश्य पिएँ। लेकिन ज्यादा भी ना लें और ना ही ज्यादा तेज गरम पानी में पकाएँ।

हल्दी है प्रभावी- हल्दी लिवर को डीटॉक्सीफाई करने में मदद करती है। यह लिवर के क्षतिग्रस्त कोशिकाओं को पुनर्जीवित करने में भी सहायता करती है liver को स्वस्थ एवं detoxify करने के लिए आधा चम्मच हल्दी पाउडर को एक गिलास पानी में मिलाएँ और इसे उबाल लें। इस तरह किए गए हल्दी पानी को कुछ हफ्ते के लिए दिन में दो बार पिएँ। इसके अलावा, अपने दैनिक भोजन को पकाने की प्रक्रिया में भी इस मसाले को शामिल रखें।

सेब खाएँ– लिवर रोग भगाएँ एक दिन में एक सेब खाएँ और लिवर के विकारों को दूर भगाएँ। सेब पेक्टिन का एक समृद्ध स्रोत है जो पाचन प्रणाली एवं कोलेस्ट्रॉल से विषाक्त पदार्थों को निकालकर लिवर को ज्यादा काम करने से बचाता है। इसके अलावा, सेव में मौलिक एसिड भी निहित है जो खून से कार्सिनोजन और अन्य विषाक्त पदार्थों को दूर करने में सहायक है। अत: रोजाना एक सेब खाएँ या फिर उसके जूस का सेवन करें।

अखरोट भी लाभकारी– अखरोट में उच्च मात्रा में निहित एमिनो एसिड लिवर को विषाक्त पदार्थों से छुटकारा दिलाने में सहायता करता है। जो लिवर को प्राकृतिक रूप से साफ करने की प्रक्रिया को बढ़ावा देते हैं। कृषि और खाद्य रसायन विज्ञान के जर्नल में प्रकाशित एक 2008 के अध्ययन के अनुसार, अखरोट में समाविष्ट पोलीफेनॉल्स, कार्बन टेट्राक्लोराइड और डी-ग्लाक्टोसेमिन से होने वाली लिवर की क्षति को रोकने में सहायक है। रोजाना एक या दो अखरोट चबाकर खाएँ। आप अखरोट को सलाद एवं सूप में भी डालकर उसका सेवन कर सकते हैं।

ब्रोकोली- लिवर को साफ करने के लिए ब्रोकोली को अपने दैनिक आहार में शामिल करें। उच्च मात्रा में ग्लूको साइनोलेट्स निहित होने की वजह से यह कार्सिनोजन और अन्य हानिकारक विषाक्त पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है। इसमें फाइबर और घुलनशील विटामिन ‘E’ भी हैं जो लिवर की कार्यशीलता में सुधार लाते हैं।

चकोतरा से डिटॉक्स करें- लिवर विटामिन C पेक्टिन और एंटी-ऑक्सीडेंट का एक समृद्ध स्रोत होने की वजह से चकोतरा लिवर को साफ रखने में बहुत प्रभावशाली है और लिवर की कार्य करने की प्राकृतिक प्रक्रिया को बढ़ावा देता है। इसमें ग्लूटाथिओन, जोकि एक प्रभावी एंटी-ऑक्सीडेंट भी है, इसमें निहित है। यह लिवर को फ्री रेडिकल क्षति से बचाता है और भारी धातुओं को डीटॉक्सीफाइ करने में सहायक है। लिवर को डीटॉक्सीफाइ करने के लिए एक गिलास ताजा चकोतरे का रस पिएँ या फिर इसके फल का सेवन करें।

एवोकाडो लिवर बनाए मजबूत- अमेरिकन कैमिकल सोसाइटी में हुए एक अध्ययन में पाया गया कि एवोकाडों में कुछ ऐसे कैमिकल निहित हैं जो लिवर को क्षति से बचाते हैं। इसमें ग्लूटाथिओन नामक तत्व भी बहुत ही उच्च मात्रा में निहित है जो लिवर को डीटॉक्सीफाइ करता है और उसकी कार्यशीलता में सुधार लाता है। एवोकाडो में समाविष्ट अघुलनशील वसा अच्छे कोलेस्ट्रॉल (HDL) को बढ़ाने में सहायता करता है और बुरे कोलेस्ट्रॉल (LDL) को कम करता है अत: एवोकाडो का सेवन करना लिवर के लिए फायदेमंद है। इसके अलावा इसमें अनेक विटामिन, न्यूट्रिएंट्स एवं खनिज भी निहित हैं, जो लिवर के लिए स्वास्थ्यवर्धक हैं। लिवर को पहुँचने वाली क्षति से दूर रखने के लिए प्रति सप्ताह एक या दो एवोकाडो का सेवन करें।

यह भी पढ़े

shelendra kumar

नमस्कार दोस्तों , में Shelendra Kumar (Founder of healthhindime.com ) हिंदी ब्लॉग कॉन्टेंट राइटर हूँ और पिछले 3 वर्षो से हेल्थ आर्टिकल्स के बारे में ब्लॉग लिख रहा हूँ मेरा उद्देस्य लोगो को हेल्थ के बारे में अधिक से अधिक जानकारी देना हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *