त्रिभुवन कीर्ति रस के फायदे और नुकसान || Tribhuvan Kirti Ras uses in hindi

Tribhuvan Kirti Ras – Benifits, Ingredients, Side Effects in Hindi

    अगर आप भी त्रिभुवन कीर्ति रस (Tribhuvan Kirti Ras benefits) के फायदे और नुकसान के बारे में अच्छे से जानना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि आप सही प्लेटफार्म पर पहुंच चुके हैं।

जहां पर आप आयुर्वेदिक औषधियों से संबंधित स्टीक जानकारी हिंदी भाषा में पा सकते हैं और अपने शारीरिक स्वास्थ्य को ठीक रखने के प्रति अच्छे से जागरूक हो सकते हैं।

आज के इस आर्टिकल में हम आपको Tribhuvan Kirti Ras के साथ-साथ Tribhuvan Kirti Ras Doses, Ingredients और मार्केट प्राइस के बारे में भी जानकारी देंगे। इसीलिए आप इस आर्टिकल को अच्छे से पूरा अंत तक जरूर पढ़ें।

>> वृहत् वात चिंतामणि रस के फायदे और नुकसान || Vrihat Vatchintamani Ras uses in hindi

Tribhuvan Kirti Ras क्या है?

त्रिभुवन कीर्ति रस एक क्लासिकल आयुर्वेदिक औषधि है। जो लगभग सभी ब्रांड में उपलब्ध है। झंडू पतंजलि आदि और भी कई कंपनियों को ही आता है। इसका इस्तेमाल कई सारे रोगों को दूर करने के लिए किया जाता है

यह आयुर्वेदिक औषधि कई सारे प्राकृतिक तत्वों से मिलकर बनी है और मार्केट यह टेबलेट फॉर्म में भी उपलब्ध है और पाउडर फॉर्म में भी उपलब्ध है।

त्रिभुवन कीर्ति रस यानी तीनों लोकों में जिस की खेती है या जिसे तीन द्रव्य की भावना दी गई है यह आयुर्वेद का ज्वर के लिए प्रसिद्ध योग है आयुर्वेद के ग्रंथों योगरत्नाकर में इसका उल्लेख है

हमारी वेबसाइट के ऊपर ऐसी आयुर्वेदिक औषधियां जो कि आपके जीवन को सुखमय बनाती है इनसे संबंधित जानकारी दी जाती है। आप अपनी इच्छा अनुसार किसी भी कंपनी से त्रिभुवन कीर्ति रस खरीद सकते हैं।

यह गोल्डन कफ के लिए काफी अच्छी मेडिसिन है और बुखार फीवर को भी कम करती है।

आज की इस पोस्ट में हम आपके लिए त्रिभुवन कीर्ति रस के फायदे से संबंधित आर्टिकल लेकर आए हैं तो इसीलिए आप इस आर्टिकल को पूरा ध्यानपूर्वक पढ़ें।

>> स्वर्ण बसंत मालती रस के फायदे और नुकसान || Swarn Vasant Malti Ras

Tribhuvan Kirti Ras ingredients in Hindi

आइए जानते हैं कि त्रिभुवन कीर्ति रस में कौन कौन से नेचुरल इनग्रेडिएंट्स उपलब्ध है जो कि इस दवा को बहुत ही शक्तिशाली बना देते हैं

त्रिभुवन कीर्ति रस में पाए जाने वाली सामग्री जो कि इस प्रकार से है

  • Shuddh Hingul
  • Shuddh vatasnabh
  • Sunthi
  • Marich
  • Pippali
  • Shuddh tankan
  • Pipali mool
  • Tulsi swaras
  • Adrak swaras
  • Dhatura swaras
  • Nirgundi swaras

 

उपरोक्त दिए गए नेचुरल इनग्रेडिएंट से बनी त्रिभुवन कीर्ति रस एक शक्तिशाली औषधि है।इन सभी प्रकार की सामग्री को मिला करके त्रिभुवन कीर्ति रस को बनाया जाता है।

>> महावत विधवानसन रस के फायदे || Mahavat Vidhwansan Ras Uses In Hindi

त्रिभुवन कीर्ति रस के फायदे (Tribhuvan Kirti Ras ke fayde in Hindi)

  • त्रिभुवन कीर्ति रस सभी प्रकार के बुखार बात एवं कफ दोष की प्रधानता से होने वाले बुखार, इनफ्लुएंजा, सर्दी खांसी के साथ बुखार का आना, छीन के आना आदि में प्रयोग की जाता है।
  • त्रिभुवन कीर्ति रसनए बुखारो के लिए प्रसिद्ध औषधि है त्रिभुवन कीर्ति रस वात ज्वार और वातकफात्मक ज्वर में अति उत्तम औषधि है।
  • यह स्वेदजनन यानी पसीना लाने से बुखार को उतारती है साथ ही में वेदनाशामक होने से बुखार एवं वात के कारण होने वाले शारीरिक दर्द को भी कम करती हैं।
  • त्रिभुवन कीर्ति रस का उपयोग pneumoniaऔर influenza में उत्तम प्रकार से होता है निमोनिया में इस रसायन के साथ अभ्रक भस्म, श्रृंगार सम और चंद्रमृत रस मिलाकर देने से अच्छा लाभ होता है
  • गले में खराश एवं टॉन्सिल्स या तो इंफेक्शन या कफ प्रकोप से होते हैं। इसमें बुखार के साथ-साथ गले में दर्द की समस्या रहती है तब त्रिभुवन कीर्ति रस को शहद के साथ देने से काफी फायदा मिलता है।
  • लीवर एवं स्प्लीन के उपचार पाचन तंत्र की समस्या के लिए भी त्रिभुवन कीर्ति रस का उपयोग किया जाता है

>> कुमार कल्याण रस के फायदे व अन्य जानकारी || Kumar kalyan ras uses in hindi

Tribhuvan Kirti Ras doses in Hindi

  • 60mg(½ रत्ती) की गोली सुबह और शाम दिन में 2 समय  अदरक के रस और शहद के साथ  या अन्य रोगानुसार अनुपान के साथ ले।
  • त्रिभुवन कीर्ति रस को आप कुछ भी खाने के बाद नॉर्मल पानी के साथ ले सकते हो या जैसे आपके डॉक्टर द्वारा निर्धारित की गई मात्रा के अनुसार ले। इसे आप लंबे समय तक ना लें। इस दवाई को आप डॉक्टर की सलाह के बिना बिल्कुल ना लें।
  • त्रिभुवन कीर्ति रसको अधिक मात्रा में लेने से यह आपको हानि भी पहुंचा सकता है
  • इस दवाई को मेल या फीमेल कोई भी ले सकता है लेकिन प्रेग्नेंट महिलाएं हैं  इस दवाई को डॉक्टर की सलाह  लिए बिना न ले।
  • त्रिभुवन कीर्ति रस दवाई का सेवन बच्चे भी ना करें। इस दवाई को बच्चों की पहुंच से दूर रखें।

>> प्रवाल पंचामृत रस के फायदे और नुकसान || Praval Panchamrit Ras uses in hindi

त्रिभुवन कीर्ति रस की सावधानियां

  1. जिन व्यक्तियों को गर्मी बहुत ज्यादा लगती है जिनको बार-बार पित्ती उछलने की समस्या है तो उन्हें इसका सेवन नहीं करना चाहिए इससे उनकी समस्या और भी ज्यादा बढ़ सकती है
  2. यदि आप त्रिभुवन कीर्ति रस लेते हो तो आपको बहुत ज्यादा ठंडी चीजें जैसे की आइसक्रीम ठंडा पानी कोल्ड ड्रिंक आदि इन सब का सेवन आपको नहीं करना है
  3. इसके अलावा आपको फास्ट फूड जंक फूड यह सब भी नहीं खाना है आपको हेल्दी फूड लेना है और दिन भर से ही मात्रा में पानी पीना है जिससे आपको त्रिभुवन कीर्ति रस का अच्छा खासा फायदा देखने को मिलेगा।
  4. अधिक मात्रा में त्रिभुवन कीर्ति रस के सेवन से यह मादक द्रव्य के साथ मिलकर जहरीली बन जाती है।
  5. गलत विधि से सेवन करने से  हृदय समस्या के साथ कई स्वास्थ्य समस्याएं भी पैदा हो सकती है। इसीलिए स्वयं उपचार की कोशिश ना करें और हमेशा वैद्य के अनुसार ही इस दवाई का सेवन करें।

>> रस माणिक्य के फायदे व अन्य फायदे || Ras Manikya uses in hindi

Tribhuvan Kirti Ras market price in Hindi

वैसे तो आप इस रस को अपने ऑनलाइन प्लेटफॉर्म जो कि आयुर्वेदिक औषधियों की बिक्री करते हैं उनकी वेबसाइट से जैसे कि अमेजॉन से ऑर्डर कर सकते हैं।

लेकिन बाजार में यह आपको किसी भी आयुर्वेदिक मेडिकल स्टोर पर मिल जाएगा इस रस को आप टेबलेट या पाउडर के रूप में भी खरीद सकते हैं।

इसी के साथ अलग-अलग क्षेत्र के हिसाब से इसके प्रोडक्ट प्राइस अलग-अलग भी हो सकती है।

>> एकांगवीर रस के फायदे व अन्य फायदे || Ekangveer ras uses in hindi

Conclusion

हमें उम्मीद है कि आप Tribhuvan Kirti Ras के benefits साथ-साथ इसकी खुराक की जानकारी भी हिंदी भाषा में सरल शब्दों में पा चुके हैं।

यदि आपको इस आर्टिकल में दी गई जानकारी अच्छी लगी तो आप हमारी वेबसाइट को फॉलो कर सकते हैं और आयुर्वेदिक औषधियों की जानकारी हिंदी भाषा में पा सकते हैं।

shelendra kumar

नमस्कार दोस्तों , में Shelendra Kumar (Founder of healthhindime.com ) हिंदी ब्लॉग कॉन्टेंट राइटर हूँ और पिछले 3 वर्षो से हेल्थ आर्टिकल्स के बारे में ब्लॉग लिख रहा हूँ मेरा उद्देस्य लोगो को हेल्थ के बारे में अधिक से अधिक जानकारी देना हैं

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *